भारतीय ट्रेन रख रही है टिकर की दो खुराक

 


टीकाकरण एक लंबा सफर तय कर चुका है। ब्रिटेन की योजना धीरे-धीरे लॉकडाउन हटाने की है। लेकिन भारतीय तनाव की दहशत आड़े आ गई। ऐसे में आज ब्रिटिश स्वास्थ्य विभाग ने एक अच्छी खबर दी है। उन्होंने कहा कि फाइजर-बायोएंटेक कोविड वैक्सीन की दो खुराक भारतीय तनाव और ब्रिटेन के तनाव, कोरोनावायरस के दो प्रकारों का विरोध करने में सक्षम हैं। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोविड वैक्सीन भी काम कर रही है। ब्रिटिश स्वास्थ्य विभाग की इस खुशखबरी से बोरिस जॉनसन प्रशासन को कम से कम थोड़ी राहत तो मिली है।

अधिक पढ़ें-  चक्रवात यास ने बालेश्वर के दक्षिण में 155 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से प्रहार किया।

यूनाइटेड किंगडम के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने टैक्स कोड में धीरे-धीरे ढील देने का फैसला किया है। 18 मई से ज्यादातर दुकानें, रेस्तरां, कैफे, पब और यहां तक ​​कि चिड़ियाघर भी खुल गए हैं। लोग ऑफिस भी जा रहे हैं। इतने दिनों तक घर में मेहमानों का आना मना था। अब दो परिवारों को एक जगह इकट्ठा होने की इजाजत है। वे घर के बाहर कैफे और रेस्तरां में भी मिल सकते हैं। 21 जून तक सभी कोरोना नियमों को हटाने की योजना है। लेकिन प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि यह सब स्थिति पर निर्भर करता है। उन्होंने इस बात पर भी चिंता व्यक्त की कि जिस तरह से भारतीय स्ट्रेन से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है, उससे अंतिम समय में वापसी हो सकती है। वैज्ञानिक यह भी कहते हैं कि भारतीय नस्ल के बारे में बहुत कुछ अज्ञात है। फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि वह पद छोड़ने के बाद क्या करेंगे। ब्रिटिश स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक महत्वपूर्ण जानकारी प्रकाशित की गई है। पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड (पीएचई) की रिपोर्ट में कहा गया है कि फाइजर-बायोएंटेक वैक्सीन बी1.617.2 स्ट्रेन के खिलाफ 8% प्रभावी है। ब्रिटेन या सेंट्रा स्ट्रेन के खिलाफ ९३% प्रभावी (बी.१.१.८)। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैथ्यू हैनकॉक ने पीएचई रिपोर्ट पर राहत की सांस ली है। "उस मामले में, ब्रिटेन को एक महीने के भीतर कैद से मुक्त किया जा सकता है, टीकाकरण के आधार पर," उन्होंने कहा।

अधिक पढ़ें- हर जिले के सभी डी०एम० के वाट्सएप नंम्बर कर दिये गए ऑनलाइन

ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को भी भारतीय उपभेदों के खिलाफ प्रभावी दिखाया गया है। लेकिन थोड़ा कम। अध्ययनों से पता चला है कि यह भारतीय उपभेदों के खिलाफ 80 प्रतिशत प्रभावी है। और ब्रिटेन तनाव के खिलाफ 6 फीसदी काम कर रहा है। "मेरा आत्मविश्वास बढ़ रहा है," हैनकॉक ने कहा। हम सही रास्ते पर हैं। पीएचई के अनुसार, टीका भारतीय उपभेदों के खिलाफ समान रूप से अच्छा काम कर रहा है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.