ब्राह्मणों को भरोसा सिर्फ अखिलेश यादव पर है

बसपा का अब ब्राह्मण दाव फेल, मायावती को चुनाव में याद आते हैं ब्राह्मणः अभिषेक मिश्रा

ब्राह्मणों को भरोसा सिर्फ अखिलेश यादव पर है : पूर्व मंत्री

सपा ने प्रदेश को क्या दिया...

पूर्व मंत्री ने कहा कि अखिलेश यादव की सरकार में उत्तर प्रदेश का विकास हुआ है। 22 महीने में आगरा से लखनऊ नेशनल हाईवे देने का कार्य सपा ने किया था। समाजवादी पेंशन, मेडिकल कालेज, आईटीआई कालेज, 102 तथा लोहिया आवास ये सभी योजन- ओं से प्रदेश की जनता को लाभ मिला है। बसपा भाजपा इन पार्टी के नेता बताए की इन लोगों ने कौन सी योजना प्रदेश में लागू किए, जिससे जनता का भला हुआ हो। भाजपा शासन काल में बेरोजगारी और शिक्षकों की बेरोजगार बनाने का कार्य किया गया है।

विश्वास है वो है समाजवादी पार्टी के मुखिया ॐ बसपा कार्यकाल में सबसे ज्यादा एससी अखिलेश यादव पर आज प्रदेश के पूर्व मंत्री एसटी लगा विप्रो पर कहा थी मायावती पंडित अभिषेक मिश्रा ने बताया कि ब्राह्मणों के साथ भाजपा और बसपा ने छला है। बसपा सुप्रीमो ने कहा था कि हमारी सरकार बनेगी तो भगवान परशुराम की मूर्ति लगवाएंगे लेकि न पांच साल तक प्रदेश में सरकार रही उनको याद नहीं आया। उनके कार्यकाल में ब्राह्मणों को सिर्फ एससी एसटी में फंसाया गया था, तब मायावती क्या कर रही थीं। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव पर ब्राह्मणों का

ॐ मनोज त्रिपाठी

देवरिया। प्रदेश में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बहुजन समाज पार्टी को अब याद आ रहे हैं ब्राह्मण जबकि ये पार्टी सत्तासीन थीं तो कितने ब्राह्मणों के नौजवानों और भगवान परशुराम की मूर्ति लगाया गया। प्रदेश के ब्राह्मणों को अब एक ही नेता पर अब

विश्वास है और 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने जा रही है और ब्राह्मणों को न्याय मिलेगा। आज प्रदेश के ब्राह्मण तथा जनता जागरूक हो चुकी है अब किसी के बहकावे में नहीं आने वाली है। भाजपा शासन काल में ब्राह्मणों का जिस तरह से नरसंहार हुआ है ये प्रदेश की जनता भलीभांति समझ रही है। ब्राह्मण समाज के मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए प्रदेश के सभी जिलों में ब्राह्मण सम्मेलन बसपा आयोजन करने वाली है, इससे ब्राह्मण अब

अभिषेक मिश्रा ने कहा- ब्राह्मण जाति नहीं है बल्कि संस्कार है।

देवरिया। अगले साल विधानसभा चुनाव हैं, ऐसे में सभी विपक्षी दल खासकर बसपा और भाजपा ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही हैं। इन कोशिशों के बीच प्रदेश के पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा कि ब्राह्मण समुदाय भाजपा और बसपा का साथ नहीं देगा क्योंकि वह भारतीय संस्कृति और राष्ट्रीय हित को हाप्रोत्साहित करने के काम सिर्फ समाजवादी पार्टी कर रही है। विपक्षी दल ब्राह्मण समुदाय को लुभाने में सफल नहीं होंगे। उन्होंने कहा, ह्यब्राह्मण जाति नहीं है बल्कि संस्कार है। उसने हमेशा भारतीय संस्कृति और राष्ट्रीय हित को प्रोत्साहित करने के लिए काम किया और वे उसी पार्टी के साथ खड़े होंगे जो ऐसा करेगी। उत्तर प्रदेश में 11 प्रतिशत ब्राह्मण हैं। हाल में बैठक की बीजेपी के कुछ ब्राह्मण नेताओं ने की थी जिसमें उन्होंने समुदाय को पार्टी के साथ जोड़े रखने के विभिन्न तरीकों पर मंथन किया था। उत्तर प्रदेश में ब्राह्मणों की अनुमानित आबादी 11 प्रतिशत है और पारंपरिक रूप से समुदाय बसपा और उसके बाद बीजेपी का समर्थन दिया था। हालांकि, चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी के इस वोट बैंक में सेंध लगाने के प्रयास तेज कर दिए गया है।

इनके साथ नहीं जाएंगे। अभिषेक मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में ब्राह्मण सम्मेलन करने से अब बसपा का भला नहीं होने वाला है। सोशल इंजीनियरिंग के दम पर बसपा सुप्रीमो प्रदेश की सत्ता में दोबारा राज नहीं करेगी। ब्राह्मणों ने

बसपा का दिल खोलकर समर्थन किया था, लेकिन अब ब्राह्मण इनके साथ नहीं है। उन्ह ने कहा कि अगले हफ्ते अयोध्या में बसपा द्वारा ब्राह्मण सम्मेलन कराने की जो योजना बना रहे है वो योजना धराशाई हो जाएगा।

 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.