कानपुर के कारोबारी की मौत(Manish Gupta)

 


कानपुर के कारोबारी की


मौत


पिता की मौत पर बेटे को क्या दूंगी जवाब, मुझे इंसाफ चाहिए


चार साल के मासूम बेटे को गोद में लिए मनीष की पत्नी मीनाक्षी बोलीं, पुलिस वालों ने पति को मार डाला


शिवम सिंह / सुशांत शुक्ला


गोरखपुर। चार साल के मासूम बेटे अविराज गुप्ता को गोद में लिए पत्नी मौनाक्षी बोल पड़ाँ-बेटे को उसके पिता की मौत के बारे में क्या जवाब दूंगी? अगर वह पुलिस बनना चाहे तो कैसे बनने दूंगी? लोगों की रक्षा के लिए बनी पुलिस ने ही जान ले लो, क्या ऐस ही सुरक्षा दे रही है पुलिस? पुलिस के ऐसे ही काम होते हैं? जिस वजह से बच्चा तक पुलिस को देखकर डरता है और नफरत करने लगता है।


मीनाक्षी के इन सवालों का जवा तो किसी के पास नहीं था, लेकिन जिसने भी उनकी बातें सुनी, उसका कलेजा पसीज गया। आम लोग भी घटना के बारे में जानने के बाद पुलिस वालों पर सवाल उठाते दिखे।


मनीष की पत्नी मीनाक्षी का कहना है कि उनके पति की पिटाई की गई। आखिर किस कानून के तहत पुलिस कमरे में चेकिंग के नाम पर अभी रात घुस गई और फिर पिटाई कर पति को मार डाला। उनका यह भी आरोप है कि पुलिस वालों ने समय से मनीष को अस्पताल भी नहीं पहुंचाया। उनकी मृत्यु होने के बाद दोस्तों ने घर पर जानकारी दी जिसके बाद सुबह पांच बजे परिजनों ने जानकारी दी और यह फिर आई।


मीनाक्षी का कहना है कि श देखने में ही लग रहा है कि कितनी बेरहमी से पिटाई की गई है। शरीर पर कई जगह गहरे घाव इस बात की


आठ साल पहले हुई थी शादी


मनीष की शादी मीनाक्षी से 2013 में हुई थी। दोनों का चार साल का बेटा अविराज है। मीनाक्षी का मापका भी कानपुर में है। उनके पिता मदन गोपाल गुप्ता भी साथ में मेडिकल कॉलेज आए थे।


उठाया सवाल, किस कानून के तहत पुलिस रात में गई थी चेकिंग करने, क्या ऐसे ही सुरक्षा करती है पुलिस


पति की मौत की खबर पाकर गोरखपुर पहुंची मीनाक्षी मामले में कार्रवाई की मांग करते हुए से पड़ी हाथ जोड़कर उन्होंने न्याय की गुहार लगाई।


मुख्यमंत्री और पुलिस अफसरों को ट्वीट कर गुहार


मीनाक्षी ने पति के शरीर पर जख्म देखने के बाद जख्मों की फोटो के साथ मुख्यमंत्री और पुलिस के आला अफसरों को ट्वीट किया। पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की। लगातार ट्विटर पर पत्नी मीनाथी सवाल उठाते हुए कार्रवाई की मांग करती रहीं।


गवाही दे रहे हैं कि गिरने से नहीं, उन्हें पीटकर मारा गया है। मुझे इंसाफ चाहिए।


मुझे थाने ले जा रही पुलिस


मनीष के कमरे में जब पुलिस चेकिंग करने पहुंची थी उन्होंने नेता व अपने भांजे के दोस्त लखनऊ निवासी दुर्गेश जी को फोन करके यह बताया था कि पुलिस उन्हें परेशान कर रही है। दुर्गेश ने थाने के बारे में पूछा तो मनीष ने फिर पुलिस से सवाल पूछे इस पर मौजूद पुलिसकर्मियों का कहना था कि इसे धाने लेकर चलो मनीष ने बताया कि उनो थाने लेकर जाया जा रहा है, जिस पर दुर्गेश ने एसपी से बात करने की बात कही थी। फिर फोन कट गया था।


मां-बाप के इकलौते बेटे थे मनीष


मनीष अपने माता-पिता के इकलौते बेटे थे। मां की दो साल पहले मौत हो चुकी है। मनीष के घर में उनके पिता नंद किशोर के अलावा छोटा बेटा और पत्नी ही है।


रात में पुलिस बैंकिंग के नाम पर कुमरे में आई थी। प्रदीप और मनीष बेड पर सोए थे और में एक बेड लगाकर सोया था। घंटी बजने पर खोता आईडी कार्ड मांगने पर दिखाया प्रदीप को भी जगा दिया। प्रदीप ने सब कुछ


दिखाया। मनीष को तो


पड़ा?


पुलिस ने पिटाई शुरू कर


दो मुझे भी मारने लगे थे और बाहर कर मनीष की पिटाई करने लगे। इसी दौरान मुंह के बाल वह गिर गया, जिससे उसकी हालत खराब हो गई। पुलिस उसे लेकर नग हो गई, जहां से मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया था। हम लोगों को साथ में पुलिस नहीं ले गई थी गोरखपुर के दोस्त चंदन को रात में जानकारी दी सभी आ गए थे।


पत्नी की तीन मांगें


कारोबारी मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने सरकार से तीन मांग की है। उनका कहना है कि प्रकरण में केस दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाए। पुलिस वालों का निलंबन हो और बेटे के लालन पालन की अवस्था की जाए। इसमें पुलिस वालों को निति कर देर रात आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।


पुलिस के आने पर रात में अचानक साथी हरदीप ने मनीष को उठाया था तब मैंने देखा कि पांच से छह की संख्या में पुलिस वाले मौजूद हैं। पुलिस वालों ने आईडी मांगी और फिर सामान की तलाशी लेने लगे। इसी दौरान चेकिंग पर सवाल पूछने पर पुलिस वाले होकर पिटाई करने लगे। मनीष के साथ भी मारपीट की गई और वह नीचे गिर गया। पुलिस उसे अस्पताल ले गई। नर्सिंग होम से मेडिकल कॉलेज ले जाने पर हम लोग साथ नहीं थे। पुलिस को हम लोगों ने यह जानकारी दे दी थोक गोरखपुर के ही चंदन सैनी ने ठहराया है, लेकिन पुलिस पिटाईबंदकी पुलिस ने ऐसा क्यों किया, यह समझ में नहीं आ रहा था।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.